ये हिन्दोस्ताँ है

  
  तू हिन्दू बनेगा, न मुसलमान बनेगा |
      इंसान की औलाद है, इंसान बनेगा |
  मालिक ने हर इंसान को इंसान बनाया,
      हमने उसे हिन्दू या मुसलमान बनाया |
 
  कुदरत ने तो बख्षी थी हमें एक ही धरती,
      हमने कहीं भारत, पाकिस्तान, तो कहीं इरान बनाया |
  जो तोड़ दे हर बाँध को वो तूफ़ान बनेगा |
      इंसान की औलाद है इंसान बनेगा |

 
  मधुबन खुशबू देता है,
      सागर सावन देता है |
  जीवन उसका जीवन है,
      जो औरों को जीवन देता है|
 
  यहाँ कोई सीता है, राधा है कोई,
      कोई चांदनी है, रज़िया है कोई |
  किशन है कोई, तो कोई राम भी है |
     मोहब्बत तो हम सबका पैग़ाम भी है |
   
  जिसे लोग कहते हैं हिन्दोस्ताँ है,
       यही मेरे सपनों का प्यारा जहां है|
  सभी मज़हबों का यहाँ एक निशाँ है|
       ये हिन्दोस्ताँ है, ये हिन्दोस्ताँ है |

Dedicated to all...

4 comments:

  1. Mazhab nahi sikhata aapas mei bair rakhna
    hindi hai hum watan hai hindostaa(n) hamara....

    ReplyDelete
  2. phalak pakadke utho.. aur hawa pakadke chalo.
    tum chalo to hindustan chale...
    tum chalo to hindustan chale...
    lagao haath ki suraj subaha nikaal karein..
    hatheliyon mein bhare dhoop aur uchala kare..
    Ufaq pe paav rakho, aur chalo akad ke chalo.
    Falak pakad ke utho, aur hawa pakad ke chalo.

    ReplyDelete
  3. nice.. :)
    n i lov that 'tum chalo to hindustan chale' wala advertisement.. its beautiful.. :)

    ReplyDelete
  4. I knw.. n the video is damn inspiring! :)

    ReplyDelete